shighrapatan ka ilaj

shighrapatan ka ilaj



आज हम इस  में शीघ्रपतन के बारे में जानकारी देने  वाले है। यह एक ऐसा विषय है जिसके बारे में लोग अक्सर  , शिघ्रपतन का उपचार, शीघ्रपतन का आयुर्वेदिक दवा, शीघ्रपतन का इलाज, शीघ्रपतन दवा क्या है,जैसे सवालों  का जवाब खोजते रहते है। हम इस लेख के माध्यम आपके  जवाब देने की कोसिस करेंगे।
  
शीघ्रपतन किसी प्रकार का रोग नहीं है, फिर भी यह आज एक बड़ी शारीरिक समस्या बन गई है । इस समस्या की वजह से आज शादी के बाद लोग खुश नहीं रह पा रहे हैं और यह समस्या सिर्फ भारत की नहीं बल्कि दूसरे देशों की भी है, हां यह ज़रुर है कि भारत में यह समस्या शारीरिक होने के साथ-साथ मानसिक भी है । आमतौर पर यह समस्या पुरुषों में पायी जाती है, परंतु अब यह महिलाओं में भी देखने को मिल रही है ।


पहले तो जानते है की शीघ्रपतन कब कहते है। जब किसी पुरुष के न चाहते हुए भी संभोग के दौरान उसका वीर्य समय से पहले बहार निकल जाता है। तब उसे हम शीघ्रपतन कहते है। साधारणतः एक पुरुष को कम से कम 5 से 6 मिनिट्स होल्ड करना चाहिए। लेकिन यदि वह चाहे तो 10 से 20 मिनिट्स भी वो होल्ड कर सके इतनी कैपेसिटी उसमे होनी चाहिए।
आज के समय में यह के प्रॉब्लम बहुत ही कॉमन होती जा रही है। यंग लोगों में यह प्रॉब्लम 60 से 80 % लोगों में पाई जाती है। शीघ्रपतन कोई बीमारी नहीं है।यह बहुत ही आसानी से ठीक की जा सकती है। लेकिन लोग इसके बारे में ज्यादा जागरूक नहीं होते है और किसी डॉक्टर से इस बारे में सलाह लेने में भी हिचकिचाते है।




# शीघ्रपतन होने के कारण
  1. सबसे पहला कारण है हमारे मस्तिष्क में एक केमिकल होता है जिसे सिरोटोनिम कहा जाता है। इसके लेवल की कमी के कारण भी शीघ्रपतन होता है।
  2. दूसरा किसी किसी के पेनिस का फ्रंट पार्ट कुछ ज्यादा ही सेंस्टिव होता है इस कारण भी शीघ्रपतन होता है।
  3. तीसरा कारण यदि किसी को यूरिन इन्फ़ेक्सन की प्रॉब्लम है ,या कोई हॉर्मेन्स में कुछ गड़बड़ी है तो भी शीघ्रपतन होने लगता है।
  4. चौथा जिसे कंडिशन इफेक्ट कहते है। इसमें होता क्या है की काम उम्र में जब ज्यादा जल्दी जल्दी हस्त मैथुन करने की हेबिट बन जाती है। तो यह आदत बनी ही रहती है और हमारा मस्तिष्क इसी हैबिट के कारण शीघ्रपतन की समस्या पैदा करता रहता है
  5. पांचवा कारण मानसिक तनाव भी शीघ्रपतन के लिए जिम्मेदार हो सकता है 

 यह भी पढ़ें :-  



# शीघ्रपतन के  घरेलू उपचार क्या है ?


शीघ्रपतन का सबसे सस्ता और तुरंत इलाज अगर देखा जाए तो इस परेशानी का इलाज बाहरी न होकर घरेलू है । सबसे पहले आप अपनी जीवनशैली को बदलें और अपने खान-पान पर विशेष ध्यान दें । भोजन में ऐसी चीजों का इस्तेमाल करें, जो आपकी इस समस्या का निदान कर सकते हैं । 

# मानसिक विचार 

मानसिक विचार  को मै सबसे पहला कदम या उपचार कहूंगा क्यू कि विचारो की शक्ति का प्रयोग कर के भी आप शीघ्रपतन को काफी हद तक रोक सकते है। कामुक और उत्तेजना पैदा करने वाले विचारों से दूरी बनाये और सकारात्मक बने रखें। उत्तेजक वीडियो और चित्रों को देखने से बचें। और मन में हीन भावना को बढ़ावा न दें। 


# अदरक-शहद का मिश्रण 

जब भी रात को सोने जाएं उससे पहले एक चम्मच अदरक पीस लें और उसमें आधा चमम्च शहद मिलाएं और अब इस मिश्रण को जीब द्वारा चाटें ।यह मिश्रण शरीर में गर्मी पैदा करेगा, जिससे रक्त का प्रवाह बेहतर होगा ।

# अश्वगंधा

अश्वगंधा पाउडर 5 ग्राम की मात्रा में लें और उसमें उसी बराबर मात्रा में मिश्री मिलाएं और गुनगुने दूध के साथ एक बार सुबह और एक बार शाम में इसका सेवन करें और ऐसा लगातर 3 महिनों तक करते रहें ।




# लहसुन 

किसी भी प्रकार की सेक्स समस्या हो, लहसुन उसमें बहुत लाभकारी होता है । ठीक इसी तरह शीघ्रपतन की समस्या में भी लहसुन एक चमत्कारी विकल्प है । प्रतिदिन आपको 3 से 4 कच्चे लहसुन की कलियों का सेवन करना है ।इसका रोज़ सेवन करने शीघ्रपतन में राहत मिलेगी । 

 # प्याज़

इस समस्या से निजात पाने के लिए हराप्याज़ सबसे बेहतर साबित हो सकता है। हरे प्‍याज के बीजों को पीस लें और पानी में मिलाएं और इसके बाद इस मिश्रण को सुबह, दिन और रात में भोजन करने से पहले पी लें । यह प्रक्रिया आपको एक महीने तक दोहरानी है

# तरबूज

तरबूज में नमक लगाकर सेवन करें या फिर तरबूज के छोटे-छोटे टुकड़े कर लें और नमक औरअदरकपाउडर मिलाएं और सेवन करें । तरबूज के अंदर फाइटोन्यूट्रिएंट्स होते हैं जो सेक्स ऊर्जा यानि कामेच्छा बढ़ाने में मदद करते हैं और शीघ्रपत से भी राहत देते हैं । 

# कंडोम प्रयोग करें 

इस समस्या से निजात पाने में कंडोम भी मददगार साबित हो सकता है । कंडोम को इस्तेमाल करने से लिंग की सेंसटिविटी कम होती है और इसी वजह से शीध्रपतन देर से होता है, हालांकिइसके लिए आपको दूसरे प्रकार के कंडोम का प्रयोग करना पड़ेगा । इसे “क्लाइमैक्स कंट्रोल” कंडोम कहते हैं । इसके अलावा, इस समस्या के निदान के लिए आप किसी सेकसोलॉजिस्ट से संपर्क करें । वह आपको बेहतर परामर्श के साथ लिंग पर लगाने के लिए क्रीम या खाने के लिए दवाएं दे सकता है ।




# मूसली पाक 
आप पतंजलि मूसलीपाक  का भी सेवन कर  सकते है। 


# पार्टनर से करें बात


यह समस्या एक ऐसी समस्या है, जिससे कुंवारे और शादीशुदा, हर तरह के पुरुष परेशान रहते हैं । वैसे यह समस्या शारीरिक कम और मानसिक ज्यादा है और इसके लिए मनोविज्ञानिक स्थिति का नियंत्रित होना बेहद ज़रुरी है । वैसे यह समस्या कभी-कभी स्वंय ही सेक्स करते-करते ठीक हो जाती है । यह परेशानी बड़ी तब बन जाती है जब पुरुष इसके कारण किसी तरह की हीन भावना का शिकार हो जाते हैं और खुद को नीचा समझने लगते हैं ।




इस परेशानी का इलाज करने के लिए यौन रोग विशेषज्ञ मौजूद हैं और वह हमेशा यही सलाह देते हैं कि पुरुषों को अपने सैक्स पार्टनर से इस बारे में खुलकर बात करनी चाहिए और इलाज के दौरान भी उसे साथ में लाना चाहिए । इसके इलाज के लिए सेक्स विशेषज्ञ पुरुष के स्वास्थ्य इतिहास और फैमिली मेडिकल हिस्ट्री के बारे में जानते हैं और फिर पुरुष के साथी के साथ उनकी सेक्स लाइफ के बारे में बात करते हैं। जब वह पूरी तरह केस स्टडी कर लेते हैं, तब वह पुरुष को परामर्श देते हुए आहार में बदलाव करने की सलाह देते हैं । इसी के साथ-साथ कुछ सप्लीमेंट लेने का सुझाव भी देते हैं। 

मुझे उम्मीद है यह जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित होगी। इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा लोगों को शेयर करें ताकि वह भी इस जानकारी का उपयोग कर सकें। आपने हमें अपना कीमती वक्त दिया आपका बहुत धन्यवाद।