वसंत ऋतु पर निबंध - spring season in hindi

 Spring Season in Hindi


#  प्रस्तावना

spring season in hindi

spring season in hindi  -  हमारे प्यारे भारत में मुख्य ऋतु सर्दी, गर्मी और बरसात(मानसून) है। जबकि भारत में ऋतुओं को 6 भागों  में बाटा   गया हैं, जो हर दो महीने तक चलती है। इन सभी ऋतुओं में वसंत ऋतू सबसे शुहानी और मन को शीतल व प्रसन्न करने वाली है। वसंत ऋतु कि सुरुवात मार्च महीने से हो जाती है और अप्रैल और मई के महीने में, सर्दियों और गर्मियों के बीच तक रहती है। इसे सभी ऋतुओं के राजा के रुप में माना जाता है। वसंत ऋतु युवाओं की प्रकृति के रुप में प्रसिद्ध है। जिस प्रकार मनुष्य अपने युवा अवस्था में सबसे सुन्दर और आकर्सक लगता है उसी तरह प्राकृत का रूप भी वसंत ऋतु में सबसे सुन्दर और मनमोहक होता है। 

पूरे spring season  के मौसम के दौरान तापमान सामान्य रहता है, न तो सर्दी की तरह बहुत अधिक ठंडा होता है और न ही गर्मी की तरह बहुत गर्म हालांकि, अन्त में यह धीरे-धीरे गर्म होना शुरु कर देता है। शाम को मौसम और भी अधिक सुहावना और आरामदायक हो जाता है।

वसंत ऋतु बहुत प्रभावशाली होती है: जब यह आती है, तो प्रकृति में सब कुछ जाग्रत हो जाता हैं; जैसे- यह पेड़, पौधे, घास, फूल, फसलें, पशु, मनुष्य और अन्य जीवित वस्तुओं को सर्दी के मौसम की लम्बी नींद से जगाती है। मनुष्य नए और हल्के कपड़े पहनते हैं, पेड़ों पर नई पत्तियाँ और शाखाएं आती है और फूल तरोताजा और रंगीन हो जाते हैं। सभी जगह मैदान घासों से भर जाते हैं और इस प्रकार पूरी प्रकृति हरी-भरी और ताजी लगती है।

Essay on Spring Season in Hindi
spring season in hindi


Season Name in Hindi भारत में ऋतुओं के नाम

Season Name in Hindi, Ritu Ke Naam Hindi Mein, Seasons of India in Hindi निम्न प्रकार है:

वसंत ऋतु (Spring Season)

ग्रीष्म ऋतु (Summer Season)

वर्षा ऋतु (Rainy Season)

शरद ऋतु (Autumn Season)

हेंमत ऋतु ( Pre Winter Season)

शीत ऋतु (Winter Season)

इसे पढ़ने के बाद आप कभी भी अपना समय व्यर्थ नहीं करेंगें। 

# Spring Season in Hindi - ऋतुओं का राजा वसंत 

बसंत ऋतु की शोभा सबसे निराली होती है। बसंत ऋतु का ऋतुओं में सर्वश्रेष्ठ स्थान होता है इसी वजह से यह ऋतुओं की राजा मानी जाती है। भारत की प्रसिद्धि का कारण उसकी प्राकृतिक शोभा होती है। लोग अपने आप को धन्य मानते हैं जो इस पृथ्वी पर रहते हैं। इस मौसम की शुरूआत में, तापमान सामान्य हो जाता है, जो लोगों को राहत महसूस कराता है, क्योंकि वे शरीर पर बिना गरम कपड़ों को पहने बाहर जा सकते हैं। 

अभिभावक सप्ताह के अन्त के दौरान बच्चों के साथ मस्ती करने के लिए पिकनिक का आयोजन करते हैं। फूलों की कलियाँ अपने पूरे शबाव में खिलती है और प्रकृति का स्वागत अच्छी मुस्कान के साथ करती है। फूलों का खिलना चारों ओर खुशबू को फैलाकर बहुत सुन्दर दृश्य और रोमांचित भावनाओं का निर्माण करता है।

भारत में वसंत ऋतु को सबसे सुहावना मौसम माना जाता है। प्रकृति में सब कुछ सक्रिय होता है और पृथ्वी पर नए जीवन को महसूस करते हैं। वसंत ऋतु सर्दियों के तीन महीने के लम्बे अन्तराल के बाद बहुत सी खुशियाँ और जीवन में राहत लाती है। वसंत ऋतु सर्दियों के मौसम के बाद और गर्मियों के मौसम से पहले, मार्च, अप्रैल और मई के महीने में आती है।

यह सर्दियों के तीन महीनों के लम्बे समय के बाद आती है, जिसमें लोगों को सर्दी और ठंड से राहत मिलती है। वसन्त ऋतु में तापमान में नमी आ जाती है और सभी जगह हरे-भरे पेड़ों और फूलों के कारण चारों तरफ हरियाली और रंगीन दिखाई देता है। वसंत ऋतु के आगमन पर सब लोग वसंत पंचमी का त्यौहार मना खुशियाँ मनाते हैं। वसंत के आने पर सर्दियों का अंत होता है और सब जगह खुशहाली छा जाती है।


# वसंत ऋतु में त्योहार:- Festival in spring Season

वैसे तो वसंत ऋतू खुद प्राकृत के द्वारा मनाया जाने वाला त्यौहार  है जो प्रकृति के द्वारा सभी जीवों के लिए उपहार स्वरूप है। लेकिन हम अपने कुछ वसंत ऋतु में मनाये जाने वाले मुख्य दो त्यौहारों की चर्चा कर लेते है। 

1.  वसंत ऋतु में सबसे पहला त्यौहार जो मनाया जाता है वह वसंत  पंचमी का त्यौहार है। इस त्यौहार की सुरुवात  हम माता सरस्वती कि पूजा से करते है इस दिन हम बड़े ही धूम धाम से माता सरस्वती कि पूजा अर्चना करते है। सभी स्कूलों व शिक्छाण  संस्थानों में भी सरस्वती पूजन के साथ साथ मोहक कार्यक्रमों कि प्रस्तुति होती है। इस त्योहार के माध्यम से हम सभी देशवासी माता सरस्वती से कामना करते है ,कि हमारे जीवन में ज्ञान का प्रकाश हमेसा बना रहे और हमे सदा सद्बुद्धि मिले ताकि हमारा जीवन आनंदमय और सुखी बना रहे। 

2. वसंत ऋतू में मनाया जाने वाला प्रमुख त्यौहार होली है ,बसंत ऋतू में ही फाल्गुन का महीना भी आता है। फाल्गुन महीने में मनाया जाने वाल यह प्रमुख त्यौहार मौज मस्ती ,हुड़दंग ,गीत संगीत और रंगों के लिए जाना जाता है। मुख्य रूप से पांच दिनों तक चलने वाले इस त्यौहार कि सुरुवात होलिका दहन से होती है और रंग पंचमी तक यह त्यौहार मनाया जाता है। 

इन दिनों घरों में अलग अलग तरह के पकवान बनाये जाते है। और लोग एक दूसरों को रंग और गुलाल लगाकर यह त्यौहार मनाते है।फागुन महीने में प्रकृति एक अलग ही मस्ती की छटा चारों और बिखेर देती है। सारा माहौल मस्ती भरा लगने लगता है। मन में एक अलग ही सुंदर भाव फूटने लगते है। पलाश के लाल सुर्ख रंग के फूल और महुये की मस्त कर देने वाली खुशबू से मन पुल्कित हो उठता है लगता है जैसे ये प्रकृति खुद ही हवा में मदहोस कर देने वाली खुशबू बिखेर रही हो। इस लिए इस  होली त्यौहार में सभी लोग अपने सरे दुःख और द्वेश को भूलकर प्यार और मस्ती के साथ इस त्यौहार को मानते हैं।

# वसंत ऋतु में अन्य त्योहार

गुडी पडवा , रामनवमी, हनुमान जयंती, बैसाखी, परशुराम जयंती, अक्षय तृतीया.


# निष्कर्ष

वसंत ऋतु का वास्तविक सौंदर्य हमारे स्वास्थ्य को पोषण देता है और हम जीवन के सभी दुखों को भूल जाते हैं। यह हमारे हृदय को बहुत अधिक उत्साह, आनंद और खुशी से भर देती है। इसलिए, वास्तव में इस मौसम का आनंद हम सभी जगहों पर आकर्षक दृश्यों को देखकर लेते हैं।

मुझे उम्मीद है आपको यह लेख spring season in hindi पसंद आया होगा। आपने हमे इतना समय दिया आपका बहुत धन्यवाद। 

यह भी पढ़ें :-

पुस्तकालय पर निबंध 

वसंत ऋतू पर निबंध 

कम्प्यूटर पर हिंदी निबंध 

परोपकार पर हिंदी निबंध 

पर्यावरण प्रदूषण पर हिंदी निबंध 

जनसँख्या वृद्धि पर निबंध 

बाल दिवश पर हिंदी इस्पीच 

समय का महत्व वा सदुपयोग पर हिंदी निबंध 

 स्पीक इन हिंदी 

विज्ञान के चमत्कार पर निबंध 

इंटरनेट के ऊपर निबंध 

आलश्य मनुष्य का शत्रु है 

विधार्थी जीवन में अनुशासन का महत्व 

दीपावली पर निबंध 

महात्मा गाँधी पर निबंध 

15 अगस्त स्वतंत्रा दिवस पर भाषण 

टीचर्स डे इस्पीच इन हिंदी 

वृक्षारोपण के महत्व पर निबंध 

पत्र लेखन 

निबंध इन हिंदी