बाल दिवस पर भाषण - bal diwas speech in hindi

 

बाल दिवस - Bal Diwas Speech in Hindi 

 


bal diwas par bhashan

bal diwas par bhashan हमारे विद्यालय में प्रतिवर्ष 14 नवंबर को बाल दिवस का आयोजन किया जाता है। बाल दिवस पूज्य चाचा नेहरू का जन्मदिवस है। 

चाचा नेहरू भारत के प्रथम प्रधानमंत्री थे। वे स्वतंत्रता संग्राम के महान् सेनानी थे। उन्होंने अपने देश की आजादी के लिए सर्वस्व न्योछावर कर दिया। 

अपने जीवन  के अनेक अमूल्य वर्ष देश की सेवा में बिताए। अनेक वर्षों तक विदेशी शासकों ने उन्हें जेल में बंद रखा। उन्होंने साहस नहीं छोड़ा और देशवासियों को आगे बढ़ने की प्रेरणा देते रहे। 

 

bal diwas speech in hindi
bal diwas speech in hindi 

पं. नेहरू बच्चों के प्रिय नेता थे। बच्चे उन्हें प्यार से ‘चाचा’ कहकर संबोधित करते थे। 

उन्होंने देश में बच्चों के लिए शिक्षा सुविधाओं का विस्तार कराया। उनके अच्छे भविष्य के लिए अनेक योजनाएँ आरंभ की। वे कहा करते थे ‘कि आज के बच्चे ही कल के नागरिक बनेंगे। 

यदि आज उनकी अच्छी देखभाल की जाएगी तो आगे आने वाले समय में वे अच्छे डॉक्टर, इंजीनियर, सैनिक, विद्वान, लेखक और वैज्ञानिक बनेंगे।’ इसी कारण उन्होंने बाल कल्याण की अनेक योजनाएँ बनाईं। 

अनेक नगरों में बालघर और मनोरंजन केंद्र बनवाए। प्रतिवर्ष बाल दिवस पर डाक टिकटों का प्रचलन किया। बालकों के लिए अनेक प्रतियोगिताएँ आरंभ कराईं। 

वे देश-विदेश में जहाँ भी जाते बच्चे उन्हें घेर लेते थे। उनके जन्मदिवस को भारत में बाल-दिवस के रूप में मनाया जाता है।

 

हमारे विद्यालय में प्रतिवर्ष बाल- दिवस के अवसर पर बाल मेले का आयोजन किया जाता है। बच्चे अपनी छोटी-छोटी दुकानें लगाते हैं। विभिन्न प्रकार की विक्रय योग्य वस्तुएँ अपने हाथ से तैयार करते हैं। बच्चों के माता-पिता और मित्र उस अवसर पर खरीददारी करते हैं। 

सारे विद्यालय को अच्छी प्रकार सजाया जाता है। विद्यालय को झंडियों, चित्रों और रंगों की सहायता से आकर्षक रूप दिया जाता है। – बाल दिवस के अवसर पर खेल-कूद प्रतियोगिता और सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन किया जाता है। 

बच्चे मंच पर आकर नाटक, गीत, कविता, नृत्य और फैंसी ड्रेस शो का प्रदर्शन करते हैं। सहगान, बाँसुरी वादन का कार्यक्रम दर्शकों का मन मोह लेता है। तत्पश्चात् सफल और अच्छा प्रदर्शन करने वाले छात्र-छात्राओं को पुरस्कार वितरण किए जाते हैं। बच्चों को मिठाई का भी वितरण किया जाता है। इस प्रकार दिवस विद्यालय का एक प्रमुख उत्सव बन जाता है।

बाल दिवस पर भाषण  - bal diwas speech in hindi उम्मीद है आपको 

पसंद आया होगा। अपने हमे इतना समय दिया आपका बहुत धन्यवाद। 


यह भी पढ़ें :-

पुस्तकालय पर निबंध 

वसंत ऋतू पर निबंध 

कम्प्यूटर पर हिंदी निबंध 

परोपकार पर हिंदी निबंध 

पर्यावरण प्रदूषण पर हिंदी निबंध 

जनसँख्या वृद्धि पर निबंध 

बाल दिवश पर हिंदी इस्पीच 

समय का महत्व वा सदुपयोग पर हिंदी निबंध 

 स्पीक इन हिंदी 

विज्ञान के चमत्कार पर निबंध 

इंटरनेट के ऊपर निबंध 

आलश्य मनुष्य का शत्रु है 

विधार्थी जीवन में अनुशासन का महत्व 

दीपावली पर निबंध 

महात्मा गाँधी पर निबंध 

15 अगस्त स्वतंत्रा दिवस पर भाषण 

टीचर्स डे इस्पीच इन हिंदी 

वृक्षारोपण के महत्व पर निबंध 

पत्र लेखन 

निबंध इन हिंदी